सुन लीजिए


कुछ नहीं मै,
बस धड़कते दिल के सिवा,
गर महसूस हो तो,
महसूस कर लिजिये..
भावों का ही बस,
है मुझमें बसेरा,
यकीं गर हो तो,
बस जाईये..
और कुछ नहीं,
बस खाली हूँ मैं,
चुप सदाओं को मेरी
ही सुन लीजिए.

Tagged

Leave a Reply

error: Protected content
%d bloggers like this: